हंसा – एक संयोग — किन्नरों के जीवन पर एक भावनात्मक फिल्म

चित्रग्रही फिल्म्स के बैनर तले बन रही निर्माता सुरेश शर्मा की हिन्दी फिल्म “हंसा – एक संयोग ” किन्नरों के जीवन पर बनायी जा रही एक भावनात्म  फिल्म है ,जिसके निर्देशक-युगल हैं संतोष कश्यप व धीरज वर्मा कथा-पटकथा-संवाद संतोष कश्यप के हैं तथा संगीत ललित मिश्र का। इस फिल्म का गीत “बद्रीनाथ की दुल्हनियां ” फेम सिंगर देव नेगी ने गाया है।

लाईन प्रोड्यूसर उमाकांत राय हैं और कैमरामैन अरविंद.के। इस फिल्म के मुख्य कलाकार हैं — आयुष श्रीवास्तव, मंत्रा पटेल, सयाजी शिंदे, शरत सक्सेना, वैष्णवी मैक्डोनंल्ड,उमाकांत राय, शुद्धा चंद्रन, निर्देशक संतोष कश्यप व् धीरज वर्मा के मुताबिक कुछ कलाकार मार्केट के होंगे  जिनका चयन जारी है।” हंसा…” किन्नरों पर बनायी गयी और फिल्मों की तरह नहीं है। इसमें उनको लैंगिक भेदभाव के नजरिये से नहीं भावनात्मक रूप में मानवीय संवेदनाओं  के दृष्टिकोण से देखने का एक सार्थक प्रयास किया गया है। जबकि प्रचार प्रसार पब्लिश मीडिया(अखिलेश सिंह) की टीम कर रही है।

Print Friendly, PDF & Email

Comments are closed.